Pages

Friday, 1 April 2011

पाकिस्तानियों को शुक्रगुज़ार होना चाहिए अफरीदी का...

पाकिस्तान में उन्माद है. चारों ओर अफरीदी और दूसरे खिलाड़ियों की थू-थू हो रही है...ज़रा बताइये, विश्व-कप के पहले किसी ने सोचा था कि पाकिस्तान सेमीफाइनल तक पहुँचेगा..! स्पॅाट-फिक्सिंग में उनके तीन प्रमुख खिलाड़ियों पर बैन लग गया...एक भी बल्लेबाज फार्म में नहीं था....अलबत्ता गेंदबाज़ी हमेशा की तरह चमत्कारिक...अपने जातीय गुण, हौसले और कप्तान अफरीदी की अद्भुत नेतृत्व क्षमता के कारण वे यहां तक पहुंच पाये और बहादुरी से लड़ते हुए हारे. कम से कम भारत में तो हर कोई उनकी बहादुरी का कायल है....एक कमज़ोर और बिखरी हुई टीम को अफरीदी यहां तक ले आये......हार के बाद भी उन्होंने जो बड़प्पन दिखाया वह इसके पहले किसी पाकिस्तानी कप्तान में नहीं देखा गया था....पाकिस्तान से जो खबरें आ रही हैं उसके मुताबिक वहां के क्रिकेट प्रशासक अफरीदी समेत कई खिलाड़ियों को बाहर का रास्ता दिखाने की ज़मीन तैयार कर रहे हैं....उनके लिए यह कोई नई बात नहीं है.....पाकिस्तान के हुक्मरान अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए किसी न किसी को ढूढ़ ही लेते हैं...
Post a Comment