Pages

Thursday, 23 February 2012

आधा है चन्द्रमा रात आधी : केवल वयस्कों के लिए


...." इसे दो पैग व्हिस्की के दे दो, फिर देखो इसके चेहरे का नूर...."
यह बात गुरुदेव ने बगल के कमरे से निकलते हुए कही थी....जब उनके साथ उनकी शोध-छात्रा थी.

यह वाकया उन दिनों का है, जब  गुरुमाता गर्मी की छुट्टियों में गांव गयी थीं.

Post a Comment